सुपौल : ईंट सोलिंग में भारी अनियमितता का ग्रामीणों का आरोप

0
384
- Advertisement -

सोनू आलम

- Advertisement -

सुपौल : बलुआ बाजार प्रखंड क्षेत्र के लक्ष्मीनियाँ पंचायत के ललितग्राम वार्ड 13 में “सात निश्चय गली नाली योजना” के तहत हो रहे ईंट सोलिंग में भारी अनियमितता की जानकारी ग्रामीणों द्वारा दी जा रही है। इस दौरान ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि कार्य खत्म हुये, एक सप्ताह भी नहीं हुआ और सड़क के बीचों बीच बांस का पौधा निकलना शुरू हो गया है। साथ ही इस योजना में सड़क के किनारे रेलिंग निर्माण में लोकल बालू का उपयोग किया गया, का भी ग्रामीणों ने शिकायत किया, लेकिन उनलोगों का कहना था कि कार्य करवा रहे वार्ड सदस्य पति इश्तखार आलम ने अपनी मनमानी के अनुसार कार्य किया।

हालांकि कार्यस्थल पर अधिकारी भी आये लेकिन कार्य की गुणवत्ता मे कोई परिवर्तन नहीं हुआ। स्थानीय लोगों का ये भी कहना है कि कार्य के बारे में बोलने पर वार्ड सदस्य पति के द्वारा बोला जाता है कि कार्य निर्माण में लोकल बालू देने का ही स्टीमेट है। लोगों की माने तो इसमें आसपास के नदी का ही बालू उपयोग किया गया है। ग्रामीणों ने बताया कि उक्त बाबत विभाग में आवेदन भी दिया जाएगा ताकि इसकी जाँच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई हो सके।

ज्ञात हो कि “सात निश्चय गली नाली योजना” के तहत होने इस सड़क का निर्माण जामा मस्जिद से लेकर आता हुसैन के घर तक होना है। जिसकी कुल लागत 1 लाख 71 हजार रुपया है। लेकिन वार्ड सदस्य पति इश्तखार आलम का मनमानी इस कदर हावी है कि कार्य समाप्त हुए एक सप्ताह बीतने के बाद भी कार्यस्थल पर प्राक्कलन राशि नहीं दर्शाया गया है। जबकि नियम के अनुसार कार्य निर्माण से पहले प्राक्कलन राशि को दर्शाना अनिवार्य है। इस सन्दर्भ में जेई ने बताया कि सड़क के किनारे बांस होने के कारण बांस का पौधा निकल गया है। उसको ठीक करवा लिया जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि कार्यस्थल पर प्राक्कलन राशि को नहीं दर्शना अनियमितता को दर्शाता है। इसके बारे जांच के बाद कार्रवाई किया जाएगा।

- Advertisement -