सुपौल : नशे में धुत व्यक्ति ने जमीन विवाद को लेकर किया हंगामा

0
327
- Advertisement -

सोनू आलम

- Advertisement -

सुपौल : बलुआ बाजार थाना क्षेत्र के बिशनपुर शिवराम में नशे के धुत में एक सिरफिरे व्यक्ति के द्वारा हंगामा से परेशान होकर ग्रामीणों ने उसे पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। लेकिन उक्त नशेड़ी के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय यह कहकर छोड़ दिया गया कि उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। उधर, उक्त नशेड़ी ने थाना से निकलकर घर पहुँचते ही हंगामा शुरू कर दिया। इस दौरान नशेड़ी ने एक टेम्पू में भी आग लगा दिया। ये सारा मामला जमीन रजिस्ट्री में पैसे की लेन देन से जुड़ी हुई है। इस बीच थानाध्यक्ष के इस रवैये से ग्रामीणों में काफी आक्रोश है।

जानकारी के अनुसार रंजीत मेहता से रुद्रानंद ठाकुर ज़मीन बिक्री के बदले एक लाख पचास हजार रुपया लिया था, लेकिन रंजीत मेहता के द्वारा जमीन रजिस्ट्री या पैसा की मांग करने पर आये दिन श्री ठाकुर हो हंगामा कर टाल देता है। इसी क्रम में वार्ड 5 के निवासी रुद्रानंद ठाकुर शनिवार की रात शराब के नशे में धारदार हथियार के साथ वार्ड 2 के निवासी रंजीत मेहता के घर पहुंचकर गाली गलौज करते हुए, बाहर में रखे मक्का की जलावन के ढेर में आग लगा दिया। आग लगता देख पास के ही राजकुमार मेहता व संजीत मेहता वहाँ पहुँचे तो उक्त नशेड़ी दोनों के साथ मारपीट करना शुरू कर दिया। इस बीच हो हल्ला होने पर आसपास के ग्रामीण इकठ्ठा हो गए। उक्त नशेड़ी ने ग्रामीणों के आते देख भागने की कोशिश की लेकिन ग्रामीणों ने खदेड़ कर पकड़ लिया। वहीं इसकी सूचना थाना को दिया गया, लेकिन थाना से किसी के नहीं आने के बाद लोगों ने रंजीत मेहता के टेम्पू से उक्त व्यक्ति को थाना ले गए। थानाध्यक्ष कार्रवाई करने के बजाय लोगों को डांट-फटकार कर भेज दिया।

फिर लोगों ने उक्त व्यक्ति को वापस सरपंच सदानंद राय के पास ले गए। जहां सरपंच ने सुबह पंचायत करने की बात कही। वहीं लोगों द्वारा उसे घर छोड़ने के बाद, उक्त व्यक्ति ने टेम्पू से उतरते ही फिर हंगामा करना शुरू कर दिया। जब लोग वहाँ से चले गए, उसके बाद नशेड़ी और उसके घर के सदस्य ने मिलकर रंजीत मेहता के टेम्पू में आग लगा दिया। टेम्पू जलकर राख हो गया। इस दौरान उनलोगों ने जान से मारने की धमकी दिया। इधर, आक्रोशित ग्रामीणों ने थानाध्यक्ष के खिलाफ जमकर नारेबाजी किया। इस बीच लोगों ने पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद और बलुआ थाना मुर्दाबाद के नारे भी लगाए। इस दौरान ग्रामीणों ने कहा कि पुलिस इस नशेड़ी की रात में ही कस्टडी में ले लेती, तो इस तरह की घटना नहीं होती। इस बाबत बलुआ थानाध्यक्ष संतोष कुमार निराला ने बताया कि आवेदन मिलने पर कार्रवाई किया जाएगा।

- Advertisement -