सुपौल : प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण छात्रों को चार वर्ष बाद भी मुख्यमंत्री योजना के तहत दी जाने वाली स्कॉलरशिप राशि नहीं मिली

0
221
- Advertisement -

सोनू आलम
कोसी की आस@बलुआ बाजार,सुपौल

सुपौल जिले के बलुआ बाज़ार प्रखंड क्षेत्र में माध्यमिक परीक्षा में प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण छात्रों को चार वर्ष बाद भी मुख्यमंत्री योजना के तहत दी जाने वाली स्कॉलरशिप राशि कई छात्रों को अब तक नही मिली पाई है।

- Advertisement -

उक्त संबंध में छात्रों में राजकीय प्लस टू ललित नारायण उच्च विद्यालय के प्राचार्य और जिला शिक्षा पदाधिकारी सुपौल के खिलाफ भारी आक्रोश व्याप्त है। स्कॉलरशिप राशि के लिए कभी जिला, तो कभी अपने विद्यालय का चक्कर लगाकर निराश हो चुके छात्र, अब जिला शिक्षा पदाधिकारी के खिलाफ एक उग्र आन्दोलन करने की तैयारी कर रहे हैं।

बलुआ बाजार ललित नारायण विद्या मंदिर के छात्र अनुज कुमार भास्कर, सिद्धार्थ कुमार, उज्ज्वल कुमार, अंशु कुमारी, अक्षय कुमार झा ने बताया कि वह 2015 में ही बलुआ उच्च विद्यालय से मैट्रिक की परीक्षा प्रथम श्रेणी पास किये थे लेकिन इसके बावजूद आज तक उसे प्रोत्साहन राशि नही मिली। छात्रों ने बताया कि लोक निवारण शिकायत में आवेदन देने के बाद 11 मई 2018 को जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, योजना एवं लेखा सुपौल को पत्र जारी कर निर्देश भी दिया गया कि राशि आवंटित होते ही छात्रों को राशि उपलब्ध कराना सुनश्चित करंगे। उक्त आज आदेश के डेढ़ साल बीत जाने पर भी छात्रों को राशि नही दी गई।

वहीं छात्र अनुज भास्कर ने विद्यालय प्रबंधन पर आरोप लगाते हुए कहा कि एक साजिश के तहत सामान्य वर्ग के छात्रों का फाइल जिला को दी ही नही गयी। उन्होंने कहा जब विद्यालय के प्राचार्य श्रीमती कल्पना यादव से इस संबंध में बात किया तो उनके द्वारा आजकल की बात कहकर टाला जाता है। जब जिला जाकर इस संबंध में बात की जाती है तो उनके द्वारा कहा जाता है विद्यालय से आपलोगों का फाइल दी ही नही आई है। उन्होंने कहा जबकि अन्य दूसरे जाति के छात्रों का भुगतान हो चुका है तो फिर सामान्य वर्ग के छात्र के साथ ऐसा भेद भाव क्यों? अनुज ने कहा जब इस बात के लिए उन्होंने आवाज उठाना शुरू किया तो उसे विद्यालय के कुछ शिक्षकों के द्वारा प्रैक्टिकल एग्जाम में नंबर भी बहुत कम दिया गया।

वही इस संदर्भ में बलुआ उच्च विद्यालय के प्राचार्य कल्पना यादव ने छात्रों के द्वारा लगाये गए आरोप को निराधार बताते हुए, बताया कि सामान्य वर्ग वाले बच्चों की राशि जिला से ही मिलेगी विद्यालय के तरफ से सारा कागजात जमा हो चुका है।

- Advertisement -