सुपौल : पर्यावरण की रक्षा के लिये स्कूली बच्चों के साथ शिक्षकों ने किया वृक्षारोपण

0
644
- Advertisement -

एन के शुशील

विपरीत मौसम को रोकने और पार्यावरण की रक्षा के लिये छातापुर के एक निजी स्कूल के छात्र-छत्राओं ने  स्कूली शिक्षक-शिक्षिकाओं के नेतृत्व में वृक्षा रोपण किया। इसके तहत बच्चों ने 500 पौधे स्कूल परिसर समेत ग्रामीण इलाकों के मार्ग में लगाये। एस डी बोर्डिंग स्कूल के प्रधानाचार्य ने समाजिक दायित्व का निर्वहन करते हुए वृक्षारोपण के कार्यक्रम का आयोजन किया। उन्होंने इसके तहत आम लोगों को बढते प्रदूषण से निजात पाने के लिए वृक्षारोपण के प्रति जागरूक करने की बात कही। स्कूली बच्चों ने ग्रामीण सड़क, नहर और तालाब के किनारे फलदार व उपयोगी वृक्ष लगाकर पर्यावरण को शुद्ध करने को लेकर संकल्प लेते दिखे।

- Advertisement -

वृक्षारोपण कार्यक्रम के अवसर पर लोगों को जागरूक करते हुए स्कूल के प्रधानाचार्य विलाश थापा ने कहा कि प्राकृतिक आपदाएं आने का एक मात्र कारण पर्यावरण का असंतुलन होना है। इस पर्यावरण दिवस पर हम पर्यावरण संरक्षण का संकल्प लें और एक पेड़ अवश्य लगाए एवं पॉलीथिन का उपयोग न तो स्वयं करें, न ही किसी और को करने दें। उन्होंने कहा की ममता और पेड़ का दान, दोनों करना जन-कल्याण है। सभी को विश्व पर्यावरण दिवस समेत समय-समय पर पर्यावरण के सरंक्षण और  संवर्धन के लिए जागरूक  बने रहने की आवश्यकता है। वृक्षारोपण या जल संरक्षण कोई सेवा का कार्य या महान कार्य नहीं है, बल्कि यह जीवन जीने के लिये आवश्यक हो गया है। उन्होंने आगे कहा कि एक वक्त था जब सेवाभाव से वृक्षारोपण किये जाते थे। हमें संसाधनों का प्रयोग संभल कर करना होगा। इस विश्व प्रार्यवारण दिवस पर हम सभी अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए अधिक-से-अधिक पेड़ लगाने का संकल्प लें। मौके पर स्कूल के शिक्षक नीरज कुमार, सिम्मी वर्मा,  निर्देशक थापा, सौरव थापा,  खुशी कुमारी, प्रभात राज, अशीष कुमार और स्नेह कुमारी आदि थी।

- Advertisement -