सुपौल : सुशासन बाबू के शासनकाल में अब सरकारी बाबू भी पत्रकार को खुलेआम गोली मारने की दे रहे धमकी।

0
254
- Advertisement -

अक्षय कुमार
कोसी की आस@सुपौल।

अब अपराधी तो दूर, सरकारी बाबू भी लोगों के साथ-साथ अधिवक्ताओं और पत्रकार को भी खुलेआम अपने कार्यालय में गोली मारने और आंख निकलने की धमकी देने लगे हैं।

- Advertisement -

ऐसा ही एक मामला सामने आया है बिहार के सुपौल जिले के वीरपुर अनुमंडल कार्यालय का। सुपौल जिले के पत्रकार राजीव कुमार शपथ पत्र बनाने अनुमंडल कार्यालय जब गए, तो वहाँ के क्लर्क संजय कंठ ने शपथ पत्र बनाने के नाम पर 30 रुपये रिश्वत मांग की।

पत्रकार राजीव कुमार ने रिश्वत लेने की वजह जैसे ही पूछी, क्लर्क संजय कंठ भड़क गए और अनुमंडल कार्यालय में उपस्थित सैकड़ों लोगों के समक्ष ही अपना आपा खोते हुए गाली-गलौज, गोली मारने और आंख निकलने की धमकी देते हुए, केस में फंसा देने की बात करने लगे। यह हाई बोल्टेज ड्रामा घण्टों चलता रहा। इस घटना से आहत राजीव कुमार ने अनुमंडल पदाधिकारी वीरपुर, डीएम सुपौल और लोक जन शिकायत वीरपुर में न्याय की फरियाद की है।

वही विधिक संघ कार्यालय सचिव विजय सिंह और अधिवक्ता मिथिलेश मेहता, आरके वर्मा भी कहते है कि अनुमंडल कार्यालय में वर्षों से पदस्थापित क्लर्क संजय कंठ पर राज्य सरकार के स्थानांतरण से संबंधित कोई नियम लागू नहीं होता और ये वर्षो से यहां जमे हुए है और रोज अपनी मनमानी हरकतों से बाज नहीं आते। अधिवक्ता हो या आम व खास सभी को इनसे शपथ पत्र से संबंधित कार्य करवाने के लिए 100 रुपये रिश्वत देनी ही पड़ती है, नहीं देने वालो के साथ आये दिन ये गाली-गलौज पड़ उतारू हो जाते है। अधिवक्ताओं द्वारा कई बार उच्चाधिकारियों से शिकायत की गई,फिर भी कोई कार्यवाई नहीं हुई।

- Advertisement -