ग्रामीणों से झड़प मामले में बुधवार को भी एसएच 91 जाम, थानाध्यक्ष के विरुद्ध उचित कारवाई के आश्वासन पर माने आंदोलनकारी

0
300
- Advertisement -

सोनू आलम
कोसी की आस@बलुआ बाजार,सुपौल

- Advertisement -

मंगलवार को छातापुर थानाध्यक्ष द्वारा पहले ग्रामीणों से झड़प और फिर लाठी चार्ज के विरोध में सेकडों ग्रामीणों द्वारा भीमपुर थाना क्षेत्र के जीवछपुर बाजार में बुधवार को एसएच 91 को जाम करते हुए पुलिस प्रसाशन के विरुद्ध जमकर नारेबाजी किया गया। विरोध करते हुए ग्रामीणों द्वारा बाजार भी बंद कराया गया और सड़क पर आगजनी कर छातापुर थानाध्यक्ष के विरुद्ध आक्रोश जताया।

चार घंटे तक सड़क जाम रहने से राहगीरों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। स्थानीय मुखिया प्रतिनिधि रमेश कुमार मुखिया ने बताया कि छातापुर थानाध्यक्ष राघव शरण के कार्यशैली के खिलाफ लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

दरअसल आरोप यह लगाया जा रहा है कि थानाध्यक्ष द्वारा दुर्घटना के सिलसिले मे दुर्घटनाग्रस्त बाइक की खोज हेतु मछुआरों की बस्ती में पहुँच थे, इस दौरान ग्रामीणों और थानाध्यक्ष के बीच तीखी नोक-झोंक हुई, जिसके बाद आरोप है कि थानाध्यक्ष द्वारा लाठी चार्ज का आदेश देकर ग्रामीणों जिसमें महिलाएं भी शामिल है, को बेरहमी से पीटा गया। उक्त घटना में आधे दर्जन महिला-पुरूष जख्मी हुए हैं।

स्थानीय लोगों का कहना है कि निर्दोष लोगों की पिटाई से नाराज होकर हमलोग थानाध्यक्ष छातापुर को निलम्बित कर उनके विरुध्द कानूनी करवाई करने की मांग कर रहे हैं। लोगों ने यह भी कहा कि जबतक उनकी मांगे पूरी नहीं होती है, तब तक सड़क जाम रहेगी। सूचना मिलते ही आरडीओ अजित कुमार सिंह, सीओ सुमित कुमार सिंह, भीमपुर थानाध्यक्ष विश्वनाथ प्रसाद रवि सहित स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने ग्रामीणों को समझा-बुझाकर जाम समाप्त करने की अपील की, लेकिन आंदोलनकारी वरीय अधिकारियों को बुलाने की मांग पर अड़े हुए थे।

चार घण्टे बाद एसडीपीओ गणपति ठाकुर ने मोबाइल पर आंदोलनकारियों को आश्वासन दिया कि थानाध्यक्ष को निलंबित करने और उनके विरुद्ध कानूनी कार्यवाई का अनुशंसा वरीय अधिकारी से किया जा रहा है, जल्द ही उचित कारवाई की जायेगी, उक्त आश्वासन आंदोलनकारी मानने को तैयार हुये और सड़क जाम हटाया जा सका।

- Advertisement -