त्रिवेणीगंज में कोरोना पर आस्था भारी, उदीयमान सूर्य को अ‌र्घ्य के साथ लोक आस्था का महापर्व छठ संपन्न

0
68
- Advertisement -

सुपौल : उग ह हो सूरज देव, भइल अरघ के बेर, जल बीच खाड़ बानी कांपता बदनवां…। त्रिवेणीगंज अनुमंडल के विभिन्न प्रखंड मुख्यालय क्षेत्र में शनिवार को छठ व्रतियों ने गाय के दूध से उदीयमान सूर्य को अ‌र्घ्य दिया। इसके साथ ही लोक आस्था का चार दिवसीय महापर्व छठ संपन्न हो गया।

वहीं हाथों में अखंड ज्योति कलश और पूजन सामग्री लेकर व्रती महिलाएं छठ मैया के पारम्परिक गीत गाते हुए घरों से घाटों पर पहुंची तो ये भक्ति का उमंग देखते ही बनता था।

- Advertisement -

इसके पूर्व शुक्रवार की शाम व्रतियों ने अस्ताचलगामी सूर्य को अ‌र्घ्य अर्पण किया। दोपहर बाद से ही छठ घाटों पर जाने के लिए आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा। प्रखंड के मॉडल छठ घाट चिलौनी कतार नदी सहित बघला नदी, लक्ष्मीनिया नदी, टेढ़ा नदी, डपरखा स्थित मुरलीगंज शाखा नहर, मेड़िया साईफन सहित कई जगहों पर हजारों श्रद्धालुओं ने छठ व्रत कर भगवान भास्कर की पूजा-अर्चना की। हालांकि कुछ व्रतियों ने अपने घर में ही जल का संचय कर भगवान भास्कर को अर्घ्य अर्पित किया।

वहीं ज्यादे व्रतियों लॉकडाउन की सख्ती के बावजूद तालाब, नदियों में अर्घ्य देते दिखे। कोरोना काल मे भी प्रखंड वासियों में छठ महापर्व को लेकर अति उत्साह देखा जा रहा था। कोरोना संक्रमण पर लोगों की आस्था भारी रही। आकर्षक ढंग से सजा था मॉडल घाट, अधिकारी दिखे चौकस बाजार स्थित चिलोनी कतार नदी पर बनें मॉडल छठ घाट को आकर्षक ढंग से संजाया-संवारा गया था। पर्व को लेकर प्रशासन चौकस दिखा। अधिकारी घाटों का जायजा लेते दिख रहे थे।

वही शांतिपूर्ण ढंग से पर्व संपन्न हुआ, कहीं से भी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है। अनुमंडल पदाधिकारी एस जेड हसन, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी गणपति ठाकुर, एएसडीओ प्रमोद कुमार , सीओ दिनेश प्रसाद, थानाध्यक्ष संदीप कुमार सिंह कई घाटों का जायजा लेते देखे गये। वही नियंत्रण कक्ष से अधिकारी पल – पल के गतिविधियों पर नजर बनाए हुए थे।

सोनू कुमार भगत
कोशी की आस@सुपौल

- Advertisement -