ऊधमपुर में पी डी एस के खाद्यान्न लदे वाहन समेत चालक और खरीददार को ग्रामीणों ने घेरा, दी पुलिस को सूचना

0
35
- Advertisement -

सुपौल : छातापुर प्रखंड के ऊधमपुर पंचायत में बीते दिन ग्रामीणों ने पी डी एस के खाद्यान्न के कालाबाजारी किये जाने की सूचना पुलिस प्रशासन को दिया। जिसके बाद मौके पर प्रभारी एम ओ सह बी डी ओ अजीत कुमार सिंह की उपस्थिति में पुलिस ने खाद्यान्न को जब्त कर लिया और छानबीन की प्रक्रिया शुरू कर दिया।

यहां बता दे कि ग्रामीणों के अनुसार गांव के एक डीलर द्वारा जनवितरण प्रणाली की दुकान के बोरा बंद चावल और गेहूं की कालाबाजारी की जा रही थी। जिसको कुछ लोगों ने देखा तो कालाबाजारी के चावल लदे पिक अप को घेरकर इसकी सूचना पुलिस प्रशासन को दी। जिसके बाद पहुंची प्रशासन ने पिक अप पर लदे तीन दर्जन बोरी खाद्यान्न को जब्त करते हुए गांव के ही एक डीलर के यहां सुरक्षित रखवाकर छानबीन की प्रक्रिया शुरू कर दिया।

- Advertisement -

वहीं पिक अप चालक समेत खाद्यान्न के खरीददार युवक को गिरफ्तार कर पुलिस छातापुर थाना ले गई। जानकारी अनुसार छातापुर प्रखंड के ऊधमपुर से पी डी एस की अनाज की खरीद करने उक्त खरीददार सुपौल के प्रताप गंज से आएं थे। जिनसे आवश्यक पूछताछ पुलिस द्वारा की गई। रात के समय गिरफ्तार किए गए उक्त खरीददार और वाहन चालक को पुलिस द्वारा दूसरे दिन सुबह में छोड़ दिया गया जिसको लेकर स्थानीय लोगों में नाराजगी देखी गई है।

सूत्र की माने तो ऐसा पहली बार नहीं बल्कि कई बार अलग अलग डीलर द्वारा इस ढंग के कार्य को अंजाम दिया गया है। लेकिन पुलिस प्रशासन के मिलीभगत के कारण मामले जा लीपापोती कर दिया जाता है। इधर गिरफ्तार चालक और खरीददार को छोड़ने की बात पर थानाध्यक्ष अनमोल कुमार ने बताया कि पूछताछ के बाद उक्त खाद्यान्न जन वितरण प्रणाली के नहीं होने पर उन्हें छोड़ा गया है। जबकि आम चर्चा है कि खरीददार डीलर समेत अन्य सफेद पोशो द्वारा मोटी रकम को अदायगी कर मामले को दबाने का कार्य किया गया है।

सूत्रों की माने तो प्रभारी एम ओ सह बी डी ओ अजीत कुमार सिंह की उपस्थिति रहने के बाद भी इस ढंग से गरीबों के निवाले की हो रही कालाबाजारी के कार्य को भी दबा देने का कार्य काफी दुखद है। इधर इस संबंध में प्रभारी एम ओ से दूरभाष पर संपर्क करने की कोशिश की गई। लेकिन काफी रिंग होने के बाद भी उनके द्वारा फोन रिसीव नहीं किया गया।

गिरफ्तार युवकों ने किया खुलासा

गिरफ्तार वाहन चालक समेत खरीददार ने कहा कि उनके द्वारा व्यपारी से खाद्यान्न खरीदी गई थी। जिसको लेकर वे लोग प्रताप गंज जा रहे थे। इसी दौरान गांव के एक व्यक्ति जो खाद्यान्न का खरीद बिक्री का काम काफी दिनों से करते आ रहे थे। उनके द्वारा आपसी खुन्नस को लेकर अनलोगों को ग्रामीणों की पकड़ में करवा दिया। जबकि पकड़े गए खाद्यान्न को गांव के एक डीलर दिलखुश ठाकुर के यहां संजीव ठाकुर के देखरेख में रखवा दिया गया है।

सोनू कुमार भगत
कोशी की आस@सुपौल

- Advertisement -