विश्व के नामचीन बिजनेस स्कूल से पढ़ाई के दौरान भी पूर्ववत जारी रखा सेवा भाव

0
46
- Advertisement -

वेदांत वर्मा उर्फ़ यश वर्मा इंग्लेंड के तीसरे स्थान और विश्व के नामचीन बिजनेस स्कूल में मास्टर्स की पढ़ाई स्कॉलरशिप पर कर रहे हैं। संत माईकल हाई स्कूल में पढ़ाई के समय से ही उनकी रुचि पढ़ाई के साथ-साथ समाजसेवा में रही। कोरोनाकाल में बिहार में श्री यश ने लोगों को मदद करने में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। उस दौरान अपनी कार्यकुशलता से श्री यश ने सबको प्रभावित किया है।

उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाने के बाद भी श्री यश का लगाव बिहार के प्रति कभी कम नही हुआ बल्कि बता दे श्री यश हर मंच से खुद को बिहारी बोलने पर गर्व करते है और ज़्यादा से ज़्यादा बिहारी से आये हुए लोग को प्रेरित भी करते है की वो खुद को गर्व से बिहारी कहे।

- Advertisement -

श्री यश के पिता श्री सुनील कुमार वर्मा भी बिहार में प्रसिद्ध कर्मठ उच्च अधिकारी के रूप में जाने जाते रहे हैं और जनवरी माह में बिहार सरकार के विधि विभाग एवं गन्ना उद्योग विभाग मंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी के पद से सेवानिवृत हुए है। श्री वर्मा अपने अब तक के सफ़र को माँ अनुपम वर्मा के साथ की वजह से मानते हैं।

श्री यश ने अपने पिता के पदचिन्हों पर चलते हुए युनाइटेड किंगडम के नामी गिरामी बिजनेस स्कूल : Strathclyde Business School का सफ़र तय किया। इतना ही नहीं उन्होंने वहाँ जाकर न सिर्फ़ बिहार का बल्कि पूरे भारत का नाम ऊँचा किया है। वहाँ जाकर उन्होंने विश्वविद्यालय में स्टूडेंट ब्रांड एम्बेसडर तथा स्टूडेंट प्रोग्राम रिप्रेसेंटेटिव का पद अपने नाम किया।

हाल ही में विश्वभ्रमण पर #Humanitytour पर निकले विवेक अग्निहोत्री तथा पल्लवी जोशी ग्लैज़्गो स्कॉटलैंड पहुँचे तो इन्होंने भारतिये समुदाय के अध्यक्ष ध्रुव कुमार, नामचीन होटल व्यवसायी आलोक सिंह के साथ 4 जून 2022 को आयोजित विवेक अग्निहोत्री तथा पल्लवी जोशी के कार्यक्रम में शिरकत की तथा #humanity विषय पर मंच पर अपनी बात भी रखी।

- Advertisement -