कोशी क्षेत्र का पहला साहित्य अकादमी पुरस्कार “केदार कानन” को- अनुवाद में।

0
429
- Advertisement -

मैथिली साहित्य के सुप्रसिद्ध कवि, लेखक, अनुवादक और कोशी के गौरव “केदार कानन” को साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित करने की घोषणा की गई है। अनुवाद के क्षेत्र में साहित्य अकादमी पुरस्कार पाने वाले श्री कानन कोशी के पहले व्यक्ति हैं।

श्री कानन को साहित्य अकादमी पुरस्कार मिलने पर कोशी क्षेत्र ही नहीं बल्कि पूरे मिथिला के साहित्यकारों ने हर्ष जाहिर किया है, साथ ही कहा है कि उनके योग्यता और उनके साहित्य में उनके योगदान के लिये उन्हें यह पुरस्कार पहले ही मिल जाना था लेकिन देर से ही सही योग्य व्यक्ति को पुरस्कार दिए जाने की खुशी है।

- Advertisement -

श्री केदार कानन को मिलने वाला यह साहित्य अकादमी पुरस्कार हिंदी के दिवंगत कवि केदारनाथ सिंह के काव्य संग्रह “अकाल में सारस” के मैथिली अनुवाद के लिए दिए जाने की घोषणा की गई है। यह सम्मान इसी वर्ष आयोजित एक विशेष सम्मान समारोह में दिया जाएगा। इस पुरस्कार के तहत उन्हें ₹50000/- की राशि एवं उत्कीर्ण ताम्रफलक प्रदान किया जायेगा।
10 जुलाई, 1959 को जन्मे केदार कानन मैथिली में नवकविता आंदोलन के प्रणेता रामकृष्ण झा किसुन के पुत्र हैं। साहित्य, कला और सांस्कृतिक आयोजनों का संचालन-प्रबंधन में हमेशा सक्रिय रहने वाले श्री कानन ने मैथिली साहित्य को दिशा देने एवं आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। अबतक उनके दो कविता संग्रह प्रकाशित हो चुके हैं, इसके अलावा उन्होंने कई निबंध लिखे हैं, ग्यारह पुस्तकों का अनुवाद और कई पुस्तकों का संपादन भी किया है। वह संकल्प और शंकर भारती जैसी मैथिली की महत्वपूर्ण पत्रिकाओं के संपादक भी हैं। इसके अलावा मैथिली की करीब चालीस पुस्तकों की भूमिका भी उन्होंने लिखी है।

शिक्षा महाविद्यालय, सुखासन, मधेपुरा के प्राचार्य पद से सेवानिवृत्त होने के बाद अब वह स्वतंत्र लेखन का कार्य कर रहे हैं। पुरस्कार की घोषणा के बाद से ही विभिन्न माध्यमों यथा फोन, मैसेज आदि पर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। बधाई देनेवालों में मैथिली के वरिष्ठ कथाकार सुभाष चंद्र यादव, डॉ. महेंद्र, प्रो. ललितेश मिश्र, वरिष्ठ कवि विभूति आनंद, तारानंद वियोगी, नारायणजी, कथाकार शिवशंकर श्रीनिवास के साथ-साथ युवा कवि रमण कुमार सिंह, रोमिशा झा, मुख्तार आलम, शैलेंद्र शैली, राम कुमार सिंह आदि शामिल हैं।

- Advertisement -