WHO का बड़ा खुलासा, भ्रम में न रहें कि तापमान (Temperature) बढ़ने पर कोरोना वायरस का असर कम होगा

0
368
- Advertisement -

कोरोना वायरस, इस वाइरस ने पिछले कुछ दिनों से दुनियाँ की नींद उड़ा दी है। धीरे धीरे ये वाइरस पूरी दुनियाँ को अपने चपेट में ले रही है। अब तक तकरीबन 122 देशों में यह फ़ेल चुका है। इस वाइरस के चलते लोग काफी दहशत में हैं । हालांकि इसको लेकर सरकार काफी सजग दिख रही है और लोगों को सावधान रहने के लिए भी जागरूक कर रही है। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी लोगों से अपील की, कि आप इस बीमारी से डरें नहीं बल्कि सावधानी बरतें, जरूरत न हो तो भीड़ भार वाली जगहों पर जाने से बचें। उधर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) भी लोगों को भ्रम दूर करने के लिए समय समय पर जागरूकता से जुड़ी बातें बता रहा है। कोरोना वायरस को लेकर एक और दावा किया जा रहा है कि जैसे-जैसे गर्मी बढ़ेगी इसका प्रकोप कम हो जाएगा। WHO ने इसे लेकर बड़ा खुलासा किया है।

- Advertisement -

क्या गर्मी बढ्ने पर इस वायरस का असर खत्म हो जाएगा :

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने खुलासा किया है कि अब तक की मौजूदा परिस्थितियों का देखते हुए ये दावा सही नहीं लगता है। कोरोना वायरस किसी भी जगह पर फैल सकता है, चाहे वहां का मौसम गर्म हो या उमस भरा। अभी ऐसा न तो कोई अध्ययन है और न ही कोई तथ्य है, जिसके आधार पर ये अनुमान लगाया जा सके कि गर्म मौसम या उमस भरे मौसम में ये वायरस स्वतः खत्म हो जाएगा। WHO ने बताया कि सोशल मीडिया पर किए जा रहे इस तरह के दावों का कोई वैज्ञानिक आधार फिलहाल मौजूद नहीं है।

WHO (विश्व स्वास्थ संगठन) ने कहा कि इंसान के शरीर का तापमान 36.5 डिग्री सेल्सियस से 37 डिग्री सेल्सियस तक होता है। जब इतनी गर्मी में वायरस शरीर में फैल सकता है तो गर्म पानी से नहाकर इससे बचने या गर्म मौसम में इसके स्वतः खत्म होने का दावा करना गलत है। उल्टा ज्यादा गर्म पानी से नहाने से त्वचा जल सकती है।

बचाव का तरीका:-

WHO के मुताबिक, कोरोना वायरस से बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि हम अपने हाथ को थोड़ी-थोड़ी देर पर साबुन-पानी से कम से कम 20 सेेकेेंड तक धोएं। इसके अलावा हाथों को वायरस मुक्त रखने के लिए एल्कोहल युक्त हैंड सेनेटाइजर का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। जितना संभव हो सके आंख, नाक व मुंह बिना हाथ साफ किए न छुएं। भीड़भाड़ वाली जगह पर जाने से बचें। ऐसे मरीज के संपर्क में आने से बचें, जिसे खांसी या छींक आ रही हो। वायरस को फैलने से रोकने के लिए उन लोगों को मास्क पहनने की सलाह दी जा रही है, जिन्हें खांसी, छींक आ रही हो या बुखार हो या सांस की समस्या हो।

- Advertisement -