युवाओं के लिए कितना सही और कितना गलत था बैन एप TikTok

0
493
- Advertisement -

एक तरफ जहाँ हर-तरफ डिजिटल इंडिया-डिजिटल इंडिया का शोर है, सरकार और निजी कंपनियों द्वारा ऐसी तमाम तरीकों को बढ़ावा दिया जा रहा है जिससे डिजिटल इंडिया प्लेटफॉर्म को और मजबूती मिले वहीं आए दिन कोई-न-कोई बैन की ख़बरें भी आती रहती है। आज हम बात करने जा रहे हैं भारतीय युवाओं में मनोरंजन के लिए मशहूर मोबाइल एप TikTok की।

आज के इस इंटरनेट इरा में इस तरह के एप्लिकेशन और मोबाइल एप्लिकेशन बनाने के पीछे जो उद्देश्य है वो है आम लोगों का मनोरंजन कर धनोपार्जन किन्तु हम अपने मुख्य उद्देश्य “मनोरंजन” से अलग ही विमुख हो जा रहे हैं, अब यह एक लत बन जा रहा है और ऐसा लत जिसमें लोगों की जान तक जाने लगी है, बच्चे झूठ बोलने लगे हैं, वो पढ़ाई से दूर होते जा रहे हैं। जहाँ एक तरफ पहले बच्चे बाहर खेलना पसंद करते थे वहीं अब घर के किसी कोने में मोबाइल गेम्स और एप्लिकेशन में उलझे रहते हैं और आज यह आदत सी हो गई है, जिससे कहीं-न-कहीं उनके बौद्धिक विकास में बाधा हो रही है। आज आप देखेंगे तो अधिकांश या लगभग 90% युवाओं के फोन में आपको TikTok जैसे एप्लिकेशन मिल जाएंगे।

- Advertisement -

 

 

 

TikTok है क्या?

 

TikTok एक ऐसा मोबाइल एप है जिसकी मदद से स्मार्टफोन यूजर छोटे-छोटे वीडियो जिसमें गानें, फिल्मी डायलॉग्स, डांस वीडियो आदि शामिल है को बना और शेयर कर सकते हैं। यानि आप किसी भी वॉयसओवर को ले लीजिये और फिर उसपर वीडियो सेट कर अपलोड कर दीजिए। अगर वीडियो पसंद आने लगा तो आपका वीडियो तुरंत वाइरल होने लगेगा।

 

TikTok एप ‘बाइट डान्स’ स्वामित्व वाली कंपनी की है जिसने चीन में सितंबर, 2016 में TikTok लॉन्च किया था। वर्ष 2018 में TikTok की लोकप्रियता बहुत तेज़ी से बढ़ी और अक्टूबर 2018 में TikTok अमरीका में सबसे ज़्यादा डाउनलोड किया जाने वाला ऐप बन गया।

लेकिन मद्रास हाईकोर्ट के आदेश के बाद आज गूगल ने आखिरकार भारत में TikTok को ब्लॉक कर दिया है। अब आप गूगल प्लेस्टोर और एपल के एप स्टोर से इस एप को डाउनलोड नहीं कर पायेंगे। भारत में TikTok एप से लगातार विवाद खड़ा हो रहा था।

 

 

आख़िर बैन का क्या वजह?

सोमवार को मद्रास उच्च न्यायालय के TikTok एप पर प्रतिबंध लगाने के आदेश पर रोक लगाने से इंकार कर दिया था। मद्रास उच्च न्यायालय ने अश्लील सामग्री तक पहुंच होने की चिंताओं के चलते केंद्र सरकार को इस एप पर प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया था। लोगों का कहना था कि इस एप की वजह से एक तरफ जहाँ समाज में अश्लीलता फैल रही है तो वहीं युवा अपनी पढ़ाई और सारा काम छोड़कर मशहूर होने के लिए दिन भर TikTok वीडियो बनाते रहते हैं। कई युवा रोजाना इस एप पर अपना वीडियो अपलोड करते थे जो काफी वायरल भी होता था।

 

जैसे ही TikTok पर बैन की ख़बरें आई कई युवाओं का ये कहना था कि ”इससे हमारी आजादी छीनी जा रही है तो वहीं कई युवा ये भी कह रहे हैं कि जो भी हुआ काफी अच्छा हुआ”। बता दें कि एक ही सिक्के के दो पहलू होते हैं TikTok कई युवाओं के लिए जहाँ एक कॅरियर था वहीं कई युवा उसके शिकार थे और नुकसान ज्यादा देखते हुये माननीय न्यायालय के आदेश पर यह कदम सरकार ने उठाया।

 

- Advertisement -