विशेषज्ञों की बात कहीं सच न हों जाय, जिस तेजी से अमेरिका में कोरोना के मरीज बढ़ रहे हैं

0
184
- Advertisement -

इसमें कोई संदेह नहीं कि चीन के वुहान शहर से शुरू हुई कोरोना बीमारी का केंद्र अमेरिका बन गया है। और उसमें भी न्यूयॉर्क शहर सबसे अधिक प्रभावित है। अब तक अकेले अमेरिका में इसके 792759 मामले सामने आ चुके हैं। इस जानलेवा वायरस की चपेट में आने के बाद 42514 मरीज यहां पर अब तक अपनी जान गंवा चुके हैं। हलांकि थोड़ी राहत की बात यह है कि 72389 मरीज यहां पर ठीक होकर घर भी वापस लौटे हैं। अमेरिका में जिस तेजी से इसके मामले बढ़ रहे हैं उसको देखते हुए आशंका ये भी जताई जा रही है कि कहीं विशेषज्ञों की कही बातें सही न हो जाएं। असल, में मार्च की शुरुआत में ही विशेषज्ञों ने कहा था कि ये वायरस अमेरिका में 2 लाख लोगों की जान ले सकता है। इस बात पर आसंका जताने वालों में अमेरिका के टॉप डॉक्टर और इंफेक्शियस डिजीज के प्रमुख डॉक्टर एंथनी फॉसी भी हैं।

उन्होंने राष्ट्रपति ट्रंप की मौजूदगी में पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा था कि अमेरिका को इसके लिए तैयार रहना होगा। उनके अलावा व्हाइट हाउस में कोरोना वायरस रेस्पांस को-ऑर्डिनेटर डॉक्टर डेबोरा ब्रिक्स ने भी यही बातें कही थी। उन्होंने इस माह की शुरुआत में कहा था कि अमेरिका के पास कोई जादू की छड़ी नहीं है जिसको घुमा देने से कोरोना वाररस खत्म हो जाएगा। न ही कोई ऐसी थेरेपी या दवाई है। इससे अमेरिकियों को केवल उनका बिहेवियर ही बचा कर रख सकता है। डॉ ब्रिक्स ने कहा था कि आने वाले 30 दिन अमेरिका के लिए बेहद बुरे होंगे।

- Advertisement -
- Advertisement -