केंद्र सरकार ने जारी किया नया दिशानिर्देश, सरकारी दफ्तर में एक दिन में 20 से अधिक स्टाफ उपस्थित न हो

0
623
- Advertisement -

कोरोना वायरस जिसने पूरी दुनिया की कमर तोड़ रखी है अर्थव्यवस्था के साथ-साथ अब सरकार के दैनिक कार्यों पर भी असर डालना शुरू कर दिया है।

आए दिन सरकारी विभाग में भी करुणा के रोज नए-नए मरीज़ सामने आ रहे हैं जिस वजह से कर्मचारियों के साथ साथ सरकार भी चिंतित है। इन्हीं परिस्थितियों को देखते हुए सरकार ने दफ्तरों के लिए नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं सरकार का कहना है कि 1 दिन में 20 से अधिक कर्मचारी दफ्तर में उपस्थित ना हो।

- Advertisement -

कार्मिक लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय ने सर्कुलर जारी करते हुए कहा कि केवल वही कर्मचारी कार्यालय में आए जिनमें कोरोना वायरस से संबंधित कोई लक्षण ना हो। जैसे कि हल्का बुखार, गले में खराश आदि। ऐसे कर्मचारी अपने घर पर रहे हैं और कार्यालय ना आए घर से ही काम करें। सरकार ने दिशा-निर्देश में बताया कि कंटेनमेंट जोन में रहने वाले कर्मचारी को घर से ही काम करने को कहा है। सरकार ने कहा है कि 1 दिन में 20 से ज्यादा अधिकारी और कर्मचारी कार्यालय में उपस्थित ना हो। इसके अनुसार ही विभाग में ड्यूटी चार्ट भी बनाने को कहा है।

आदेश में साफ कहा गया है कि एक ही केबिन में काम करने वाले कर्मचारी अलग-अलग दिन कार्यालय आए जहां तक संभव हो खिड़कियां खोलकर बैठे, कार्यालय में काम करते समय मुंह पर फेस मास्क व फेस शील्ड लगी होनी चाहिए ऐसा अगर नहीं होता है तो सरकारी कर्मचारी के खिलाफ कार्यवाही की जा सकती है।

साथ ही निर्देश में कहा गया है कि हमने सामने बैठक ना करें। जहां तक संभव हो बैठक व चर्चाओं से परहेज करें। इन सभी के लिए इंटरकॉम व वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का सहारा लिया जाए। हर कर्मचारी को आधे घंटे के अंतराल पर अपना हाथ धोने होंगे साथ ही समय समय पर सैनिटाइजर का उपयोग करना होगा।

- Advertisement -