मिराज तो एक बहाना था

0
545
- Advertisement -

मिराज तो एक बहाना था,

लाहौर को आँख दिखाना था,

- Advertisement -

पाकिस्तान अबकी मान जाओ,

आतंकी का मत साथ निभाओ।

अंतिम बार चेतावनी है,

पाकिस्तान अबकी मान जाओ,

अब भी अगर करोगे गुस्ताख़ी,

तो कुछ ना बचेगा, अबकी बार,

लाहौर जलेगा, जलेगा कारांची,

साथ में इस्लामाबाद जलेगा।….2

 

 

“तिरंगा लहर रहा है, हिमालय मुस्कुरा रहा है।”…..

वंदे मातरम,

“भारत माता की जय”

आशुतोष सिंह

- Advertisement -