छातापुर: किसानों को मिले मक्का का कीमत जदयू नेता: सिया राम साह उर्फ गांधीजी

0
44
- Advertisement -

सुपौल: कोरोनावायरस महामारी से भारत की तमाम जनता परेशान हो चुकी है। इस महामारी के किसान वर्गों को काफी नुकसान सहना पड़ रहा है। किसानों के मकई फसल की कीमत पिछले वर्ष दो हजार रूपए प्रति कुंटल था। लेकिन इस बार मकई का कीमत ग्यारह सौ रुपया प्रति क्विंटल है। उक्त बातें जदयू अति पिछड़ा जिला सचिव सुपौल, पंचायत राजेश्वरी पूर्वी प्रखंड, निवासी सिया राम साह उर्फ गांधीजी ने कही।इनलोगों ने बताया की यह दर किसानों के लिए काफी कम है। इससे किसानों का हिम्मत काफी टूट रहा है तथा किसान लाभप्रद नहीं होकर घटा में जा रहा है।

इस वर्ष मकई का कीमत कम से कम दो हजार या इक्कीस सौ प्रति क्विंटल होना चाहिए। जिससे किसानों का उत्थान एवं समृद्धि या विकास होता रहे। उत्साह पूर्ण आनंद तभी किसानों में आ सकता है। इसलिए हम भारत सरकार से निवेदन करते हैं कि अन्नदाता किसानों को लाभ देकर उत्साही किया जाए।

- Advertisement -

एन के सुशील
कोशी की आस@सुपौल

- Advertisement -